Wednesday, 27 May 2009

पंजाब की आग में 'झुलसा' उत्तराखंड

-बसों में आगजनी व तोडफ़ोड़ चंडीगढ़, अंबाला, जालंधर, -लुधियाना आदि शहरों को नहीं जा सके यात्री ,हल्द्वानी पंजाब में भड़की हिंसा की आग ने उत्तराखंड को भी अपनी चपेट में ले लिया है। राज्य की एक बस वहां जला दी गयी है, जबकि एक के लिए क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। परिणाम स्वरूप परिवहन निगम की बसों को पंजाब भेजना बंद कर दिया गया है। बीती रात डेरा सचखंड के संत रामदास की वियना में हत्या होने के विरोध में पंजाब के विभिन्न शहरों में हिंसा फैली गई। इसका असर उत्तराखंड पर भी पड़ा है। रविवार को राज्य से पंजाब के विभिन्न शहरों के लिए रवाना बसों में हरिद्वार डिपो की एक बस को जालंधर शहर में आक्रोशित लोगों ने खाली कराकर आग के हवाले कर दिया। जबकि टनकपुर डिपो की बस में जमकर तोड़-फोड़ की गयी। इसके परिणाम स्वरूप उत्तराखंड से पंजाब के चंडीगढ़, जालंधर, अमृतसर, अंबाला आदि शहरों को करीब 40 बसों का संचालन होता है। जिससे निगम को करीब छह लाख रुपए की रोजाना आय होती है। इनका संचालन बंद कर दिया गया है। निगम के प्रबंधक संचालन मुकुल पंत ने बताया कि चालक-परिचालक सहित यात्री भी सुरक्षित पहुंच गए थे। उन्होंने बताया कि संपत्तियों को बचाना पहली प्राथमिकता है। यात्रियों का भारी दबाव रहने पर सहारनपुर तक बसों को भेजा जा सकता है। पंजाब के लिए बसों का संचालन स्थिति सामान्य होने के बाद ही किया जायेगा।

No comments:

Post a comment