Sunday, April 8, 2018

अगस्त्यमुनि में युवती से छेड़खानी की झूठी अफवाह पर बवाल, तोड़फोड़-आगजनी-

खबर वायरल हुई और शुक्रवार सुबह तक मामला आग की तरह भड़क गया। सुबह करीब 9 बजे से छात्र, स्थानीय लोग गंगानगर, विजयगनर और अगस्त्यमुनि में सड़कों पर प्रदर्शन करने लगे। विजयनगर और अगस्त्यमुनि में भयंकर बवाल हुआ। पुलिस बचाव के लिए पहुंचती कि तब तक आक्रोशित लोगों ने कई दुकानों के सामान को नुकसान पहुंचा दिया। रुद्रप्रयाग से भी बड़ी संख्या में फोर्स अगस्त्यमुनि पहुंची और माहौल पर काबू किया। इस बीच पुलिस से नोक-झोंक भी हुई। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठियां फटकारनी पड़ी। पुलिस पर पथराव भी किया गया। इस पूरे घटनाक्रम से अगस्त्यमुनि और विजयनगर में दिनभर तनाव रहा।
अगस्त्यमुनि थाने में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज 
पुलिस ने अगस्त्यमुनि थाने में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। यह तीनों अलग-अलग स्थानों के रहने वाले हैं। थाना प्रभारी अगस्त्यमुनि सुबोध मंमगाई ने बताया कि मामले में मेहकार सिंह पुत्र शिवचरण निवासी नवादा अमरोहा यूपी, सिंतू पुत्र समरपाल निवासी शेरपुर यूपी और सोनी कुमार पुत्र रकम सिंह रोहलकी हरिद्वार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। तीनों को हिरासत में लेते हुए पूछताछ की जा रही है।
उधर, जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने शांति व्यवस्था बनाने की अपील की है। डीएम के संदेश को यहां हुबहू दिया जा रहा है-
‘जनपद रुद्रप्रयाग के अगस्तमुनि में एक समुदाय की नाबालिग बालिका से दूसरे समुदाय के युवक द्वारा रेप की घटना के संबंध में मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि यह शोशल मीडिया के माध्यम से फैलाई गई एक अफवाह मात्र है। किसी व्यक्ति द्वारा फेसबुक में एक युवक व युवती का फोटोग्राफ पोस्ट किया गया है जिसमे उनके चेहरे भी नहीं दिखाई दे रहे हैं। एवम यह भी पोस्ट किया गया है कि एक समुदाय के युवक द्वारा दूसरे समुदाय की युवती से रेप किया गया है। इस संबंध में न युवक और न युवती की ही पहचान हुई है और न किसी के द्वारा कोई शिकायत दर्ज की गई है। यह एक अफवाह मात्र है। जिस व्यक्ति द्वारा फेसबुक पर पोस्ट डाला गया है उसकी खोज जारी है तथा उस पर कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी। मैं आप सभी से शांति बनाए रखने की अपील करता हूँ एवं निवेदन करता हूँ कि जिले में शांति का माहौल खराब न होने दें।’
धन्यवाद
जिलाधिकारी, रुद्रप्रयाग


No comments:

Post a Comment