Thursday, March 18, 2010

16 मई को खुलेंगे गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट

उत्तरकाशी pahar1-: गंगोत्री व यमुनात्री धामों के कपाट अक्षय तृतीया पर 16 मई को खुलेंगे। गंगोत्री की मूर्ति परंपरानुसार ढोल बाजों व भव्य जुलूस के साथ 15 मई को मुखवा गांव से गंगोत्री के लिए रवाना होगी। गंगोत्री मंदिर समिति की बैठक के बाद अध्यक्ष संजीव सेमवाल ने बताया कि इस बार कपाट एक माह की देरी से खुल रहे हैं। इस वर्ष अधिमास पडऩे के कारण यह स्थिति बनी है। कपाट बंद होने की तिथि भी एक माह आगे बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि इस बार मुखवा गांव में बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं के जुटने की उम्मीद है, जो गंगा की भव्य शोभायात्रा के साथ 15 मई को गंगोत्री की ओर चलेंगे। रात्रि विश्राम भैरों घाटी में करने के बाद 16 मई को मुहूर्त के अनुसार दोपहर एक बजे गंगा की भोगमूर्ति गंगोत्री मंदिर में स्थापित की जाएगी। दूसरी ओर, यमुनोत्री मंदिर के सचिव मनोहर प्रसाद उनियाल ने बताया कि यमुनोत्री के कपाट भी अक्षय तृतीया को ही खुलेंगे। इसी दिन सुबह तीर्थ पुरोहित व श्रद्धालु खरसाली गांव से यमुना व समेश्वर देवता की डोली के साथ यमुनोत्री के लिये रवाना होंगे।

No comments:

Post a Comment