Saturday, August 19, 2017

भारतीय सेना में जाने से अब नहीं प‌िछड़ेंगे पहाड़ के युवा, लंबाई में म‌िलेगी इतनी छूट


सेना की भर्ती में लंबाई की वजह से पीछे रह जाने वाले पहाड़ के युवाओं के ल‌िए खुशखबरी है। भारतीय सेना में अब पहाड़ के कम हाइट वाले युवा भी आवेदन कर सकेंगे। पहले जहां युवाओं की हाइट 166 सेंटीमीटर रखी गई थी वह अब 163 सेंटीमीटर कर दी गई है। इस छूट के संबंध में सेना ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है, जिसे सभी रिक्रूटमेंट सेंटरों को भेजे जाने की जानकारी मिली है।  वहीं, गोरखा युवाओं की भर्ती के लिए लंबे समय बाद सेना ने देहरादून में ही कैंप लगाने का फैसला किया है। एक अन्य अहम फैसले में सेना की सभी भर्तियों में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है।

स्ट कराने जाएगा, उसे एडमिट कार्ड के साथ आधार कार्ड भी साथ ले जाना होगा।
सेना की भर्ती में लंबाई की वजह से पीछे रह जाने वाले पहाड़ के युवाओं के ल‌िए खुशखबरी है। भारतीय सेना में अब पहाड़ के कम हाइट वाले युवा भी आवेदन कर सकेंगे। पहले जहां युवाओं की हाइट 166 सेंटीमीटर रखी गई थी वह अब 163 सेंटीमीटर कर दी गई है।
इस छूट के संबंध में सेना ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है, जिसे सभी रिक्रूटमेंट सेंटरों को भेजे जाने की जानकारी मिली है। हालांकि, अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। वहीं, गोरखा युवाओं की भर्ती के लिए लंबे समय बाद सेना ने देहरादून में ही कैंप लगाने का फैसला किया है।

एक अन्य अहम फैसले में सेना की सभी भर्तियों में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है। जो युवा भर्ती के लिए अपना फिजिकल टेस्ट कराने जाएगा, उसे एडमिट कार्ड के साथ आधार कार्ड भी साथ ले जाना होगा।

इन राज्य के युवाओं को म‌िलेगा लाभ

  सेना में अभी तक सोल्जर जनरल ड्यूटी पर भर्ती के लिए वेस्टर्न हिमालयन रीजन (उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, होशियारपुर, शंकरपुर, रोपड़, चंडीगढ़) के लिए 166 सेंटीमीटर लंबाई का नियम है। इस नियम की वजह से गढ़वाल और कुमाऊं के युवा भर्ती में पिछड़ रहे थे।

​लंबे समय से उत्तराखंड सहित वेस्टर्न हिमालयन रीजन के लिए हाइट 166 से घटाकर 162 सेंटीमीटर करने की मांग चल रही थी। दस जून 2017 को भारतीय सैन्य अकादमी पहुंचे सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पहाड़ के युवाओं के लिए जल्द हाइट घटाने का आश्वासन दिया था।

अब इस पर फैसला ले लिया गया है। उत्तराखंड सहित वेस्टर्न हिमालयन रीजन के युवाओं को अब 166 के बजाय 163 सेंटीमीटर हाइट पर भर्ती किया जाएगा। लैंसडौन भर्ती कार्यालय के निदेशक एआरओ के मुताबिक, हाइट घटाने की चर्चा है, लेकिन अभी आधिकारिक आदेश नहीं आए हैं। 

गोरखा भर्ती अब दून में

  न्होंने बताया कि आदेश आए तो अक्तूबर में होने वाली सेना भर्ती में भी इसका अनुपालन किया जाएगा। उधर, इस मामले में मसूरी विधायक गणेश जोशी ने बुधवार को उप सेनाध्यक्ष जनरल सरथ चंद से दिल्ली में मुलाकात की।
उन्होंने सेना भर्ती में हाइट घटाने, गोरखा युवाओं की भर्ती दून में करने के अलावा, मिट्ठीबेहड़ी में जमीन को लेकर नागरिकों की समस्या पर चर्चा की थी। गणेश जोशी ने बताया कि उप सेना प्रमुख जनरल सरथ चंद ने उन्हें ताजे फैसलों की जानकारी देने और उन्हें जल्द लागू करने का आश्वासन दिया।
लंबे समय से गोरखा भर्ती का देहरादून में कैंप नहीं लग रहा था। लिहाजा गोरखा युवाओं को भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जाना पड़ता है, लेकिन अक्तूबर में होने वाली भर्ती के लिए देहरादून में ही गोरखा भर्ती कैंप लगेगा। इसका सीधा फायदा राज्य के युवाओं को मिलेगा। उन्हें गोरखपुर नहीं जाना होगा। 

1 comment: