Friday, April 27, 2018

उत्तराखंड : अशासकीय स्कूलों में नौकरी की राह खुली, शिक्षक-कर्मचारियों के 2275 पदों पर होगी भर्तियां

teacher

सरकार ने नियुक्ति में होने वाली धांधलियों को रोकने के लिए काफी सख्त प्रावधान कर दिए हैं। वर्तमान में अशासकीय स्कूलों में प्रधानाचार्य से मिनिस्ट्रीयल कर्मी स्तर तक के 2275 पद रिक्त हैं। सरकार ने विद्यालयी शिक्षा परिषद विनियम में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव करते हुए अधिसूचना जारी कर दी है। सबसे बड़ा संशोधन इंटरव्यू के अंकों को लेकर किया गया है।

पहले जहां प्रबंध समिति के स्तर पर होने वाले इंटरव्यू में 25 अंक होते थे। उन्हें घटाकर पांच पर समेट दिया गया है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि मानकों में संशोधन से अशासकीय स्कूलों में नियुक्ति प्रक्रिया में और पारदर्शिता आएगी। मेधावी अभ्यर्थियों को अधिक से अधिक अवसर देने के लिए इंटरव्यू के अंक घटाए गए हैं और हर अभ्यर्थी को समय पर सूचना उपलब्ध कराने का सिस्टम में भी मजबूत बनाया गया है।
रिक्तियां अशासकीय स्कूलों में
श्रेणी                 पद        रिक्त 
प्रधानाचार्य        318       125
एलटी शिक्षक     3200     1500
प्रवक्ता शिक्षक    1900      500
लिपिक              800      150
छात्र संख्या पर तय होंगे पद 
किसी भी स्कूल को शिक्षक भर्ती की अनुमति से पहले छात्र-शिक्षक अनुपात के अनुसार शिक्षकों की जरूरत के अनुसार सृजित पदों को नए सिरे से तय किया जाएगा। छात्र संख्या पर्याप्त होने पर ही पद मंजूर किया जाएगा।
अभ्यर्थी को देनी होगी सूचना 
इंटरव्यू से दो हफ्ते पहले ही हर अभ्यर्थी को रजिस्टर्ड डाक, ई-मेल, एसएमएस, वेबसाइट के जरिए सूचना देनी होगी। पहले केवल डाक से ही सूचना देने का प्रावधान था। समय पर डाक न मिलने के कारण कई बार अभ्यर्थी इंटरव्यू में नहीं पहुंच पाते थे।
हर नंबर का जवाब देना होगा
सरकार ने इंटरव्यू के नंबर 25 से घटाकर पांच कर दिए हैं। यदि किसी अभ्यर्थी को चार से अधिक अंक दिए जाते हैं या फिर दो से कम, तो दोनों स्थितियों में चयन समिति सदस्य को उसका कारण भी बताना होगा।

No comments:

Post a Comment