Wednesday, November 29, 2017

उत्तराखण्ड के एक और लाल को मिली देश में बड़ी जिम्मेदारी, जानिए उनके बारे में

थल सेनाध्यक्ष विपिन रावत, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, रॉ चीफ अनिल धस्माना और सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी के बाद उत्तराखण्ड के एक और लाल को देश में बड़ी जिम्मेदारी मिली है। देवभूमि के एक और ने लाल प्रदेश का गौरव बढ़ाया है। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी प्रदीप सिंह खरोला को सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया का नया चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) नियुक्त किया गया है।
कर्नाटक कैडर के अधिकारी खरोला कंपनी में पिछले तीन महीने से अंतरिम चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक के तौर पर काम कर रहे राजीव बंसल का स्थान लेंगे। खरोला की नियुक्ति से कुछ दिन पहले ही बंसल को तीन महीने का विस्तार दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि खरोला को एयर इंडिया का नया चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है। अभी वह बेंगलुरु मेट्रो रेल निगम के प्रबंध निदेशक हैं। एयर इंडिया में शीर्ष पद पर यह बदलाव ऐसे समय किया गया है जबकि सरकार राष्ट्रीय विमानन कंपनी के रणनीतिक विनिवेश के तौर तरीकों को अंतिम रूप दे रही है।
एयर इंडिया के सीएमडी बने प्रदीप खरोला देहरादून के रहने वाले हैं। उन्होंने कुछ सालों तक कैंब्रियन हॉल स्कूल से पढ़ाई की। एयर इंडिया के सीएमडी बने प्रदीप खरोला का जन्म 1961 में देहरादून में हुआ। उनके पिता बीबीएस खरोला आर्मी से ऑर्नरी लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से रिटायर हुए। कैंब्रियन हॉल स्कूल से कुछ सालों तक पढ़ाई करने के बाद प्रदीप खरोला ने हायर सेकेंडरी महू से की। वर्ष 1977 में इंदौर से बीटेक में प्रवेश लिया। बीटेक करने के बाद दिल्ली से एमटेक किया। इसी दौरान उनका अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयन हुआ। मौजूदा समय में वह बैंगलुरू रेल कॉरपोरेशन के प्रबंध निदेशक थे। 
मंगलवार को वह एयर इंडिया के सीएमडी बने हैं। यह खबर गढ़ी कैंट में रह रहे उनके परिजनों को मिलने पर परिवार में खुशी की लहर है। उनकी 90 वर्षीय मां रतन देवी देहरादून में रहती हैं। बड़ी बहन आशा सेन और विजय सिंह सेन भी यहीं रहते हैं। बहन आशा सेन बताया कि प्रदीप के दो बेटे हैं, जो बैंगलुरु में रहते हैं। बड़ा बेटा सोमेंद्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है। जबकि छोटा बेटा प्रतिभानु लॉ कर चुका है। पत्नी गीतिका बैंगलुरू के एक स्कूल में प्रधानाचार्य हैं।
इंजीनियर बनना चाहते थे 
सीएमडी बने प्रदीप खरोला की बड़ी बहन आशा सेन बताया कि प्रदीप बचपन से मेधावी रहा है। वह जीवन में इंजीनियर बनना चाहता था। इसीलिए बीटेक और एमटेक किया था, लेकिन इस बीच उनका आईएएस में चयन हो गया था।
दिवाली पर आए थे दून 
बड़ी बहन ने बताया कि प्रदीप खरोला दिवाली पर दून आए थे। वह अक्सर अपनी मां को मिलने आते रहते हैं। कई दिन देहरादून में बिताते हैं। बताया कि भाई के सीएमडी बनने पर वह स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
ये भी हैं उत्तराखंड गौरव  
देवभूमि के लाल निरंतर प्रदेश का मान बढ़ा रहे हैं। आर्मी चीफ विपिन रावत, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी, डीजीएमओ अनिल भट्ट और रॉ चीफ अनिल धस्माना भी उत्तराखंड से ही हैं।



1 comment: