Tuesday, March 31, 2015

उत्तराखंड में गेस्ट टीचर की भर्ती जल्दी शुरु..

दुर्गम में भेजे जाएंगे गेस्ट टीचर
शिक्षा विभाग में गेस्ट टीचर बनने का ख्वाब संजोए बेरोजगारों अब तैयार हो जाएं। सरकार ने गेस्ट टीचर की भर्ती के मानक को अंतिम रूप दे दिया है। अब इसका जीओ होना शेष रह गया है। सीएम हरीश रावत अपने विशेषाधिकार से पहले ही इस प्रस्ताव को मंजूरी दे चुके हैं।गेस्ट टीचर की भर्ती प्रक्रिया की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। सरकार की कोशिश है कि नए शैक्षिक सत्र से पहले सभी नियुक्तियां कर दी जाएं। ये नियुक्तियां दुर्गम और अतिदुर्गम क्षेत्रों के स्कूलों की जाएंगी।
ज्यादातर पद इसी क्षेणी के स्कूलों में ही खाली हैं। सूत्रों के अनुसार गेस्ट टीचर का मानदेय अधिकतम 15 हजार रुपये होगा। हर पीरियड पढ़ाने के लिए 150 रुपये का प्रावधान किया गया है। आवेदन करने वाले सेवायोजन दफ्तर में रजिस्ट्रेशन होना अनिवार्य होगा।शिक्षा मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी का कहना है कि गेस्ट टीचर की नियुक्ति से शिक्षकों की कमी को दूर करने में मदद मिलेगी। खासकर दूरदराज के जिन स्कूलों में शिक्षक नहीं है, वहां भी छात्र-छात्रओं को गुणवत्तापरक शिक्षा दी जा सकेगी।
प्रवक्ता कैडर में 2672 पद रिक्त हैं। इसके लिए लोक सेवा आयोग के मानक ही लागू होंगे। प्रवक्ता के लिए पीजी और बीएड डिग्री अनिवार्य होगी।
दोनों कैडर में नियुक्ति मेरिट के आधार पर की जाएगी। इसके लिए हर जिले में डीएम की अध्यक्षता में चयन समिति गठित की जाएगी। चयन प्रक्रिया के प्रचार-प्रसार के बाद ही आवेदन लिए जाएंगे। डीएम इस समिति के अध्यक्ष होंगे और मुख्य शिक्षा अधिकारी समेत बाकी जिला शिक्षा अधिकारी समिति के सहायक सदस्य।
एलटी कैडर में 2699 गेस्ट टीचर की भर्ती की जानी है। इस कैडर के लिए आवेदन करने वाले युवाओं का बीएड, स्नातक होने के साथ ही अध्यापक पात्रता परीक्षा-द्वितीय (टीईटी-2) पास होना अनिवार्य होगा। नियुक्तियां विषयवार ही होंगी।
गेस्ट टीचर की एलटी कैडर में होनी है भर्ती
पद खाली पड़े हैं प्रवक्ता कैडर में
चयन समितियां बनाई जाएंगी उत्तराखंडमें

गेस्ट टीचरों की भर्ती प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा चुका है।अब केवल आरक्षण के मानक पर निर्णय होना बाकी है। इसके बाद आदेश जारी हो जाएगा।-एस.राजू, अपर मुख्य सचिव, शिक्षा

आभार-हिंदुस्तान देहरादून

No comments:

Post a Comment