Saturday, February 21, 2015

दूसरे राज्य से बेसिक शिक्षक सर्टिफिकेट (बीटीसी) धारकों को भी नौकरी में मान्यता ....


देहरादून ’ दूसरे राज्य से बेसिक शिक्षक सर्टिफिकेट (बीटीसी) धारकों के लिए भी सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने का रास्ता खुलने जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने दूसरे प्रदेशों से बीटीसी करने वाले, राज्य के निवासियों को पात्र माना है। आशा देवी बनाम राज्य सरकार मामले में हाईकोर्ट में दो बार हार चुके शिक्षा विभाग को सुप्रीम कोर्ट ने भी झटका दे दिया। सुप्रीम कोर्ट ने विभाग की एसएलपी खारिज करते हु

पूर्व सैनिक अब ऑनलाइन हासिल कर सकते हैं नौकरी

 
अगर आप पूर्व सैनिक हैं या फिर जल्द ही रिटायर होने वाले हैं तो अब नई नौकरी के लिए भटकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप एक वेबसाइट पर अपना फ्री रजिस्ट्रेशन कराएंगे तो देशभर के उद्योगों की वेकेंसी आपके पास खुद चली आएंगी। यह शुरुआत की है डीजीआर यानी डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ रीसेटलमेंट ने। डीजीआर रजिस्टर्ड पूर्व सैनिकों के लिए हर दो माह बाद जॉब फेयर का आयोजन भी करेगा। रिटायरमेंट के बाद अधिकांश सैनिक और सैन्य अधिकारी अपने लिए दूसरी नौकरी की तलाश करते हैं।

Friday, February 20, 2015

यूएपीएमटी के आवेदन शुरू....

डाकघरों से मिलेंगे फार्म, 25 अप्रैल तक आवेदन
 बीएएमएस, बीएचएमएस में दाखिले के लिए उत्तराखंड आयुष प्री मेडिकल प्रवेश परीक्षा (यूएपीएमटी) और स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षा (यूएपीजीएमईई) में आवेदन शुक्रवार से शुरू हो रहे हैं। प्रदेश के विभिन्न डाकघरों से आवेदन पत्र हासिल किए जा सकते हैं।
परीक्षा आयोजक उत्तराखंड आयुर्वेद विवि ने डाकघर से आवेदन पत्र खरीदने की अंतिम तिथि 20 अप्रैल और विवि में आवेदन जमा कराने की अंतिम तिथि 25 अप्रैल तय की है। यह परीक्षा 24 मई को कराई जाएगी। परिणाम 30 मई को घोषित होंगे। यह परीक्षा अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित कराई जाएगी। आवेदन पत्र की कीमत सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग अभ्यर्थियों के लिए 3050 रुपये और एससी, एसटी और विकलांग छात्रों के लिए 2050 रुपये है। ऑनलाइन फार्म डाउनलोड कर शुल्क के साथ विवि भेज सकते हैं।

Wednesday, February 18, 2015

टीईटी के बगैर भी बन सकेंगे शिक्षक


 
नई दिल्ली, केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) व राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) पास किए बगैर भी अब आप शिक्षक बन सकेंगे। शिक्षकों की कमी को ध्यान रखते हुए केंद्रीय प्रशासनिक पंचाट (कैट) ने केंद्र सरकार को शिक्षकों की नियुक्ति में सीटीईटी और टीईटी की अनिवार्यता से छूट देने का निर्देश दिया है।
कैट ने कहा है कि पात्रता परीक्षा की जगह अनुभव को तरजीह दी जाए। पंचाट के इस फैसले से दिल्ली सहित देशभर में लाखों युवाओं के लिए शिक्षक बनने का रास्ता साफ हो जाएगा। पंचाट के न्यायिक सदस्य एके भारद्वाज की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह फैसला केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा नवंबर, 2010 में जारी अधिसूचना रद्द करते हुए दिया है।

Saturday, February 7, 2015

राज्य में शिक्षक भर्ती पर रोक

 सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार के वर्षवार नियुक्ति के फामरूल के खिलाफ याचिका स्वीकार की
पद आपदा प्रभवित जिलों के लिए सृजित करने की है तैयारी
पद हैं रिक्त मौजूदा 2794 पदों पर भर्ती प्रक्रिया के
नए पद भी सृजित कर चुकी है हाल में सरकार
सुप्रीम कोर्ट ने भले ही बेसिक शिक्षकों की भर्ती पर रोक लगा दी है, लेकिन यदि सरकार सोई न रहती तो 655 बेरोजगारों को नौकरी मिल सकती थी। पिछले साल सितंबर में 2794 पदों पर हुई भर्ती में खाली रह गए 266 पदों पर देर पर देर की जाती रही। अब भी अफसरों ने हायर मेरिट वालों को मनपसंद तैनाती स्थल का पेंच फंसा दिया है। इससे यह प्रक्रिया और भी लटक गई। यही हाल नवसृजित 389 पदों का भी है। डेढ महीने से अफसर इन पदों पर भर्ती का फामरूला ही तलाश रहे हैं।

Tuesday, February 3, 2015

उत्तराखंड में समूह ख और ग के पदों पर भर्ती..... ख के 53 और समूह ग के 49 पदों पर होगी भर्ती

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने समूह ख के 53 और समूह ग के 49 रिक्त पदों पर भर्ती को ऑनलाइन आवेदन मांगे हैं। आयोग के अनुसार समूह ख के 53 पदों के लिए 18 फरवरी और समूह ग के 49 पदों के लिए अभ्यर्थी 23 फरवरी तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। बैंकों में परीक्षा शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि क्रमश: 23 और 27 फरवरी रखी गई है। समूह ख में सामान्य के लिए 36, अनुसूचित जाति के लिए 11