Wednesday, December 3, 2014

‘काफल’ को सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्म पुरस्कार

रुद्रप्रयाग। जिले के तल्ला नागपुर और घिमतोली की हसीन वादियाें में फिल्माई गई बाल फिल्म ‘काफल’ को
61 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में ‘काफल’

बाल कलाकार हरीश राणा, पवन नेगी और अजय राणा भविष्य में अभिनेता बनना चाहता है। अनुराग डाक्टर और अंजलि अध्यापिका बनना चाहता है। बाल कलाकाराें की इस उपलब्धि से पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल है। उनकी उपलब्धि पर निवर्ततान प्रधान सती देवी, मगन सिंह नेगी, रघुवीर सिंह नेगी, कार्तिक स्वामी मंदिर समिति के अध्यक्ष शत्रुघ्न सिंह नेगी, विक्रम सिंह नेगी, बलराम सिंह नेगी, कलश संस्था के अध्यक्ष ओपी सेमवाल समेत कई लोगाें ने खुशी जताई है।
बाल कलाकाराें ने जताया आभार
‘काफल’ फिल्म के निर्माण व बाल कलाकाराें को प्रेरित करने में सामाजिक कार्यकर्ता, रंगकर्मी और पत्रकार लक्ष्मण सिंह नेगी की विशेष भूमिका रही। बाल कलाकाराें को प्रोत्साहित करने के लिए उनके द्वारा विभिन्न स्थानाें पर उन्हें सम्मानित करवाया गया। उनके सहयोग के लिए बाल कलाकाराें व उनके परिजनाें ने नेगी का आभार जताया है।

राष्ट्रीय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्म चयनित किए जाने पर स्थानीय लोगाें ने खुशी जताई है। फिल्म में जिले के पांच बाल कलाकाराें ने भाग लिया है। निर्माता-निर्देशक बतुल बर्ख्याल द्वारा बनाई गई काफल बाल फिल्म में पहाड़ की जटिल परिस्थितियाें को दर्शाते हुए अपनी बोली के संरक्षण और संवर्द्धन का संदेश दिया गया है। फिल्म में श्री कार्तिकेय आदर्श बाल विद्यालय के हरीश राणा ने मुख्य भूमिका निभाई है। इसके अलावा अजय राणा, अनुराग नेगी, पवन नेगी और कुमारी अंजलि ने भी इसमें अभिनय किया है। इससे पूर्व फिल्म को हैदराबाद में 18वें अन्तरराष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव गोल्डन ऐलीफेंट में इंटरनेशनल लाइव एक्शन श्रेणी और मुंबई फिल्म महोत्सव में भी प्रदर्शित किया गया था।

No comments:

Post a Comment