Tuesday, January 29, 2013

समाधान पोर्टल बनेगा आम आदमी का हथियार

यह है पोर्टल samadhan.uk.gov.in सीएम विजय बहुगुुणा ने किया समाधान पोर्टल का शुभारंभ देहरादून। सरकारी अधिकारी या कर्मचारी लापरवाही करे तो अब चुप मत बैठिए।सरकार का समाधान पोर्टल घर बैठे अपनी समस्या या शिकायत जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंचने की सुविधा देता है। यह पोर्टल इस बात की भी गारंटी देता है कि आपकी शिकायत का तय समय में समाधान होगा।
इसमें ज्यादा से ज्यादा 45 दिन का समय लगेगा। जिलाधिकारी या विभागाध्यक्ष के स्तर से शिकायत का समाधान न होने पर मामला उच्चाधिकारी को ट्रांसफर हो जाएगा। आखिर में शिकायत मुख्य सचिव तक जाएगी। आपकी शिकायत पर क्या हो रहा है, इसकी जानकारी भी घर बैठे मिलती रहेगी। जानकार मानते हैं कि यह पोर्टल सरकारी मशीनरी को चुस्त-दुरुस्त बनाने में कारगर साबित होगा, बस जरूरत है छोटी या बड़ी लापरवाही पर खामोशी तोड़ने की। इनकी शिकायतें करें-- •सरकार की ओर से प्रदान की जाने वाली सेवाएं •वस्तुओं की आपूर्ति में देरी •अधिकारी, कर्मचारी की ओर से की गई अनियमितता •कानून, अधिनियम, शासनादेश का उल्लंघन •योजनाओं के क्रियान्वयन और कार्र्यों में देरी या गड़बड़ी इन पर नहीं विचार •नियुक्ति, वेतन या सरकारी सेवा संबंधी प्रकरण •नए प्रस्ताव, मांग, परियोजना और कार्यक्रम को किसी क्षेत्र विशेष में लागू कराने की बात कार्रवाई का समय •जिलाधिकारी, विभागाध्यक्ष को 30 दिन •आयुक्त, सचिवालय स्तर पर 15 दिन शिकायत का तरीका •एक बार में एक ही शिकायत •संक्षिप्त और स्पष्ट होनी चाहिए •अश्लील शब्दों का प्रयोग वर्जित •राष्ट्र, राज्य विरोधी तथ्य न लिखें सिस्टम की पारदर्शिता के लिए समाधान पोर्टल शुरू किया गया है। यह सुविधाजनक और अपनी बात कहने का बेहतर माध्यम है। नागरिकों के लिए जो भी अपेक्षित सेवाएं हैं उनको वे मिलनी चाहिए। यदि उसमें किसी तरह का व्यवधान आ रहा है तो इस माध्यम के जरिये उसे जल्दी ठीक किया जा सकेगा। आन लाइन होने के कारण विभागों के चक्कर भी नहीं लगाने होंगे। -दिलीप जावलकर सूचना महानिदेशक सजा का भी है प्रावधान शिकायत में अश्लील शब्द और राष्ट्र या राज्य विरोधी बातें लिखने पर शिकायतकर्ता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह तय समय में शिकायत का निस्तारण न होने पर संबंधित अधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई की व्यवस्था है। आइए खामोशी तोड़ें यह है पोर्टल सीएम विजय बहुगुुणा ने किया समाधान पोर्टल का शुभारंभ ऐसे करें शिकायत samadhan.uk.gov.in पर क्लिक करें। रजिस्ट्रेशन के लिए वेब पेज पर उपलब्ध ‘शिकायत प्वाइंट पर जाकर नाम, मोबाइल नंबर, मतदाता पहचान पत्र नंबर दर्ज करें। पेज पर ही नीचे जिला और विभाग का नाम भी अंकित करना होगा। इसके बगल में ही शिकायत का स्टेटस जानने का भी कॉलम है। जिससे यह पता चल सकेगा कि शिकायत पर सुनवाई किस स्तर पर चल रही है। इसके लिए शिकायत संख्या और आईडी के तौर पर मतदाता पहचान पत्र का नंबर कॉलम में भरना होगा। तभी पेज खुलेगा। राज्यवासियों को सरकारी महकमों से मिलने वाली विभिन्न सेवा और सुविधाओं में आने वाली दिक्कतों की शिकायत आज से आनलाइन दर्ज होगी। सीएम विजय बहुगुणा ने गणतंत्र दिवस पर समाधान पोर्टल का शुभारंभ किया। इस पर अब कोई भी अपनी शिकायत घर बैठे दर्ज कर सकेगा। अपने आवास पर पोर्टल का शुभारंभ करते हुए सीएम ने कहा संवदेनशील और पारदर्शी शासन की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम है। अब किसी की भी शिकायत समयबद्ध और प्रभावी तरीके से निस्तारित हो सकेगी। ‘समाधान’ पोर्टल से राज्य सरकार के डिलिवरी सिस्टम में सुधार होगा। सीएम ने कहा कि वे स्वयं इस पर नजर रखेंगे। किसी भी स्तर पर कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस पोर्टल के बारे में सचिव सुराज, भ्रष्टाचार उन्मूलन एवं जनसेवा विभाग एसएस रावत ने बताया कि शिकायत के निस्तारण के लिए अधिकतम 90 दिन निर्धारित है। विभिन्न स्तरों पर इनकी अवधि तय है। source-amarujala d.dun

No comments:

Post a Comment