Thursday, June 7, 2012

एलटी के लिए बढ़ जाएंगे आवेदक

रविंद्र बड़थ्वाल,देहरादून- सूबे में एलटी और प्रवक्ता के रिक्त तीन हजार से ज्यादा पदों पर जल्द भर्ती का ख्वाब देखने वालों को अभी इंतजार
करना पड़ेगा। एलटी नियुक्ति के लिए नई नियमावली बनेगी। विषय समूहों की विसंगति दूर करने को नई नियमावली बनाई जा रही है। सरकार के इस कदम से बड़ी संख्या में प्रशिक्षित बेरोजगार नियुक्ति पात्रता के दायरे में आ जाएंगे। प्रवक्ता के सीधी भर्ती के पदों पर नियुक्ति के लिए राज्य लोक सेवा आयोग को अधियाचन भेजने में अभी वक्त लगेगा। अलबत्ता, नई नियुक्ति पर ज्वाइन नहीं करने वाले एलटी और प्रवक्ता संवर्ग के तकरीबन 500 शिक्षकों के स्थान पर अब प्रतीक्षा सूची से नियुक्तियां होंगी। महकमे ने इस संबंध में कार्रवाई की है। सरकार की मंशा शिक्षकों के रिक्त पदों पर ताबड़तोड़ भर्ती की तो है, लेकिन इसे पूरा होने में अभी वक्त की दरकार है। एलटी शिक्षकों के रिक्त तकरीबन 2300 पदों में 264 पद वे हैं, जिनमें नए नियुक्त शिक्षकों ने ज्वाइन नहीं किया। शेष करीब दो हजार पदों पर नई नियुक्ति से पहले एलटी संवर्ग की नियुक्ति प्रक्रिया में मौजूदा खामियां दुरुस्त की जाएंगी। इसके लिए मौजूदा नियमावली में संशोधन होगा। महकमे से मिले इस प्रस्ताव पर सरकार मंथन करेगी। नई नियमावली में नए विषय समूहों को जगह दी जाएगी। इससे अब तक असंगत के दायरे में आने वाले विषय समूह संगत माने जा सकेंगे। नियमों में संशोधन के बाद ही नई नियुक्तियां होंगी। बड़ी तादाद में प्रशिक्षित बेरोजगारों को फायदा पहंुचाने को यह कदम उठाया जा रहा है। यही नहीं प्रवक्ताओं के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए राज्य लोक सेवा आयोग को सूचना भेजने में अभी वक्त लगना तय है। रिक्त पदों के बारे में सही सूचना शासन को नहीं मिली है। अलबत्ता, शासन ने प्रवक्ता के पदों पर 956 एलटी शिक्षकों की पदोन्नति का प्रस्ताव आयोग को भेज दिया है। उधर, एलटी और प्रवक्ता संवर्ग में ज्वाइन नहीं करने वाले नए नियुक्त शिक्षकों का ब्योरा जुटाया गया है। एलटी में सामान्य संवर्ग के 264 अभ्यर्थियों ने ज्वाइन नहीं किया। इन पदों पर वेटिंग लिस्ट से शिक्षकों की तैनाती होगी। इस बारे में प्राविधिक शिक्षा परिषद को प्रस्ताव भेजा जा रहा है। वहीं 234 प्रवक्ताओं ने ज्वाइन नहीं किया। इनमें सामान्य संवर्ग के 210 और महिला संवर्ग के 24 प्रवक्ता शामिल हैं। इन पदों पर प्रतीक्षा सूची से तैनाती के लिए महकमे ने आयोग को प्रस्ताव भेजा है। उधर, इस संबंध में शिक्षा मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी का कहना है कि स्कूलों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर प्राथमिकता से नियुक्तियां की जाएंगी। एलटी नियमावली में संशोधन से ज्यादा प्रशिक्षित बेरोजगारों को शिक्षक बनने का मौका मिलेगा।-आभार दैनिक जागरण

No comments:

Post a Comment