Friday, March 30, 2012

उपनल की भर्ती पर अगले आदेश तक लगी रोक

देहरादून: सरकार ने उत्तराखंड पूर्व सैनिक कल्याण निगम लिमिटेड (उपनल) द्वारा भर्ती किए जाने की प्रक्रिया पर रोक लगा दी है।
मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव सैनिक कल्याण को इस बारे में निर्देश दिए हैं।सूबे में उपनल सरकारी आउटसोर्सिग एजेंसी के रूप काबिज है। इसके माध्यम से सूबे में और सूबे के बाहर राज्य सरकार एवं उसके प्रतिष्ठानों, संस्थाओं, निगमों उपनल के मुख्यालय व क्षेत्रीय कार्यालयों में करीब 12 हजार कार्मिक विभिन्न पदों पर संविदा पर कार्यरत हैं। उपनल में भर्ती के लिए पूर्व सैनिकों व उनके आश्रितों को वरीयता मिलती है। दो दिन पूर्व सत्तारूढ़ कांग्रेस के कुछ विधायकों ने उपनल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए, इसमें कई खामियों की शिकायत मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा से की।
मुख्यमंत्री ने इस बारे में बीते बुधवार को निदेशक सैनिक कल्याण व पुनर्वास ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) एनएन बहुगुणा से बात की और उन्हें फिलहाल उपनल के जरिए की जाने वाली भर्ती पर तत्काल रोक लगाने के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि कुछ दिन बाद इस मसले पर बात की जाएगी। प्रमुख सचिव सैनिक कल्याण डा.रणबीर सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से लिखित रूप में उन्हें कोई निर्देश नहीं दिया गया है। मुख्यमंत्री श्री बहुगुणा ने आज इस संबंध में उन्हें मौखिक रूप से निर्देश दिए। लिहाजा सीएम के अगले आदेश तक उपनल में भर्ती पर रोक लगी रहेगी।

No comments:

Post a Comment