Tuesday, August 2, 2011

सेल्युलोज एंड पेपर टेक्नोलॉजी में करिए एमएससी Cellulose and Paper Technology MSc urged in

देहरादून,- सेल्युलोज एंड पेपर इंडस्ट्री में ट्रेंड युवाओं की बढ़ती डिमांड को देखते हुए वन अनुसंधान संस्थान (डीम्ड) विवि ने सेल्युलोज एंड पेपर टेक्नोलॉजी में एमएससी डिग्री कोर्स शुरू किया है।

अब तक छात्रों को इस टेक्नोलॉजी में एक साल का पीजी डिप्लोमा कोर्स कराया जाता है। पाठ्यक्रम के पहले सत्र में 14 छात्रों को दाखिला दिया गया है।

सोमवार को एमएससी कोर्स का शुभारंभ एफआरआइ के निदेशक व डीम्ड यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. एसएस नेगी ने किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सेल्युलोज एंड पेपर टेक्नोलॉजी में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए डिप्लोमा से डिग्री कोर्स शुरू किया गया। कोर्स कोर्डिनेटर डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि डिग्री कोर्स दो साल का होगा। पहले साल का प्रशिक्षण छात्रों को एफआरआइ में कराया जाएगा। जबकि दूसरे साल की पढ़ाई के लिए छात्रों को सेंट्रल पल्प एंड पेपर रिसर्च इंस्टीट्यूट सहारनपुर (सीपीपीआरआइ) भेजा जाएगा। शुरुआती सत्र को देखते हुए रिटर्न टेस्ट की जगह मेरिट के आधार पर 14 छात्रों को दाखिला दिया गया है। कार्यक्रम में सीपीपीआरआइ के निदेशक डॉ. आरएम माथुर, सेल्युलोज एंड पेपर डिवीजन के हेड डॉ. संजय नैथानी, डॉ. विमलेश बिष्ट, डॉ. नितिन, डॉ. आरडी गोदियाल, डॉ. वसुन्धरा ठाकुर, डॉ. सलिल धवन, डॉ. मृदुला नेगी आदि उपस्थित थे।

कोर्स से नौकरी तक

आवेदन: हर साल जून में एफआरआइ एमएससी पाठ्यक्रमों की विज्ञप्ति प्रकाशित करता है। एमएससी इन सेल्युलोज व पेपर टेक्नोलॉजी में प्रवेश के लिए भी जून में ही विज्ञापन जारी किए जाएंगे।

योग्यता: बीएससी (केमेस्ट्री विषय अनिवार्य) 50 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण होना जरूरी।

प्रवेश: रिटर्न टेस्ट और फिर मेरिट के आधार पर चुनाव।

रोजगार: शुरुआती सैलरी 25 हजार से शुरू, अनुभव और कंपनी के अनुसार बाद में 40-50 हजार प्रतिमाह या अधिक।

No comments:

Post a Comment