Sunday, May 15, 2011

श्रीनगर (गढवाल )की पहली महिला आइएएस

श्रीनगर गढ़वाल,: इस उपलब्धि ने रिजुला को अखिल भारतीय सिविल सेवा में श्रीनगर की पहली महिला आइएएस बना दिया है। वर्ष 2010 की अखिल भारतीय सिविल सेवा परीक्षा में 231 वीं रेंक पाने वाली रिजुला ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और पति को दिया है। श्रीनगर निवासी डॉ. कैलाश उनियाल और शिक्षाविद् डॉ. रेखा उनियाल की बड़ी पुत्री रिजुला उनियाल ने अपने परिवार के साथ-साथ श्रीनगर का नाम भी गौरवान्वित किया है। बचपन से ही पढ़ाई में होनहार रिजुला ने कान्वेंट स्कूल श्रीनगर से 10 वीं की परीक्षा और उसके बाद ब्राइटलैंड स्कूल देहरादून से इंटर की परीक्षा 93 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की। खास बात यह है कि वह पहली से लेकर 12 वीं तक सभी कक्षाओं में टॉपर भी रही। लेडी श्रीराम कॉलेज से बीए ऑनर्स अर्थशास्त्र की परीक्षा 70 प्रतिशत से भी अधिक अंकों के साथ उत्तीर्ण करने के बाद उन्होंने जेएनयू से स्नाकोत्तर व एमफिल किया। नेट परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद वर्तमान में वह शिवाजी कॉलेज दिल्ली में अर्थशास्त्र के असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर कार्यरत हैं। रिजुला की माता डॉ. रेखा उनियाल का कहना है कि रिजुला की कठोर मेहनत और लगन ने ही उसे इस मंजिल तक पहुंचाया है। रिजुला ने किसी भी कोचिंग का सहारा नहीं लिया है। उन्होंने बताया कि रिजुला के फोन पर जानकारी देते ही उनकी आंखों में आंसू आ गये। रिजुला के पिता कैलाश चंद्र उनियाल, छोटी बहन ऋतुश्री और भाई रिद्धीश भी रिजुला की इस कामयाबी से खासे उत्साहित हैं और उसके श्रीनगर आने के इंतजार में पलकें बिछाये हैं। रिजुला के पिता रेनबो पब्लिक स्कूल के प्रबंधक और माता रेनबो पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या हैं। उन्होंने बताया कि रिजुला गुरुवार देर रात तक देहरादून से श्रीनगर पहुंच जायेगी। एमएससी, एमएड, पीएचडी उपाधिधारी शिक्षाविद् रिजुला की मां डॉ. रेखा उनियाल का कहना है कि पहाड़ की लड़कियों में अपार प्रतिभा है। लड़कियों को अखिल भारतीय स्तर की परीक्षाओं के लिए पूरा मौका भी मिलना चाहिए। उन्होंने बताया कि रिजुला का विवाह दस दिसंबर 2010 को हुआ था। उसके पति अजीत हैदराबाद में आईपीएस की ट्रेनिंग ले रहे हैं। रिजुला की कामयाबी के बारे में सुनकर नगर के लोग दिनभर रिजुला के घर पहुंच उसके माता-पिता को बधाई देते रहे। उसकी छोटी बहन ऋतुश्री भी लेडी इर्विन कॉलेज दिल्ली में बीएससी तृतीय वर्ष में और छोटा भाई रिद्धीश रेनबो पब्लिक स्कूल चौरास में दसवीं कक्षा में अध्ययनरत है।

3 comments:

  1. Juyalji.
    AGAR SAMBHV ho sake to , Mere or se .., unhe saat samdner yane, canada subh kamanye de sake to kirpa hogee. antaan ....she is a great..
    parashar gaur
    canada

    ReplyDelete
  2. It's a great achievement congrats !!
    Sriprakash dimri Lecturer Uttarakhand India

    ReplyDelete
  3. शाबाश बिटिया रानी....शुभ कामनायें !!!
    श्रीमती उर्मिला डिमरी देहरादून उत्तराखंड

    ReplyDelete