Saturday, February 27, 2010

सुप्रसिद्ध पूर्णागिरि मेला दो मार्च से

-मांस, मंदिरा व पालीथिन पर पूर्ण प्रतिबंध, ढाई माह तक चलेगा मला चम्पावत:उत्तर भारत का सुप्रसिद्घ मां पूर्णागिरि मेला इस बार दो मार्च से 15 मई तक चलेगा। मेले में मांस, मंदिरा व पालीथिन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। सुरक्षा बंदोबस्तों केे तहत ठूलीगाड़, भैरवमंदिर और कालीमंदिर में पुलिस चैकपोस्टें होंगी। पटवारियों को भी मेला क्षेत्र में तैनात किया जाएगा। शारदा नदी के तट पर गोताखोर पुलिस तैनात होगी। जिला पंचायत सभागार में जिपं अध्यक्ष प्रेमा पांडेय की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। दो मार्च से 15 मई तक चलने वाले इस मेले में बूम से पूर्णागिरि मंदिर तक मेला क्षेत्र घोषित है। अपर मुख्य अधिकारी राजेश कुमार मेला अधिकारी व टनकपुर के एसडीएम जेएस नगन्याल मेला मजिस्ट्रेट होंगे। जल महकमा मेला स्थल में पेयजल, स्नानागार व शौचालयों की व्यवस्था करेगा। रोडवेज यात्रियों के लिए हर आधे घंटे में नियमित सेवा देगा। निजी टैक्सियों और केमू का संचालन भी होगा। भीड़ पर नियंत्रण को बैरियर लगेंगे और चिकित्सा व्यवस्था के लिए डाक्टर, फार्मेसिस्ट व एंबुलेंस तैनात होंगी। सीडीओ टीएस बृजवाल ने मेले की व्यवस्थाओं को चाक चौबंद रखने वाले विभागों से कहा कि वह जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करें। बैठक में डीएफओ एके गुप्ता, पर्यटन अधिकारी जेसी उपाध्याय, जिला युवा कल्याण अधिकारी दिनेश पांडेय, जल संस्थान के ईई संजीव मिश्रा, विद्युत नवीन मिश्रा, डिप्टी सीएमओ डा. आरके जोशी, जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी सुरेश उपे्रती, एआरएम खुशी राम, आबकारी निरीक्षक दुर्गेश्वर प्रसाद त्रिपाठी आदि अधिकारी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment