Thursday, November 12, 2009

सीमा की सुरक्षा को तैनात हुईं महिला जवान

- एसएसबी की महिला यूनिट लालकोठी पहुंची , खटीमा: भारत-नेपाल की खुली अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा का जिम्मा अब महिला जवान भी संभालेंगी। सशस्त्र सीमा बल की महिला यूनिट बुधवार को लालकोठी चेक पोस्ट पहुंच गई। माना जा रहा है कि इस कदम से सीमा क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त महिलाओं की गतिविधियों पर नजर रखने के साथ ही उन पर अंकुश लगाया जा सकेगा। सुरक्षा की दृष्टि से बेहद संवेदनशील नेपाल सीमा पूरी तरह खुली हुई है। दोनों देशों के बीच नागरिकों की आवाजाही पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है। नेपाल सीमा के रास्ते भारत में नकली करेंसी, मादक पदार्थ, अवैध हथियार व प्रतिबंधित वस्तुओं की तस्करी की सूचनाएं बराबर मिलती रही हैं। कई बार इस तरह के मामले पकड़ में आ चुके हैं। इसके अलावा माओवादी गतिविधियों व घुसपैठ की दृष्टि से भी सीमा क्षेत्र संवेदनशील है। इधर तस्करी का नेटवर्क चलाने वाले लोगों ने अब इस धंधे में महिलाओं को बतौर कोरियर इस्तेमाल करना शुरू किया है। अब तक पकड़े गए तस्करी के कई मामलों में इसकी पुष्टि भी हुई है। यंू तो एसएसबी के जवान सीमा से आने-जाने वाले लोगों व सामान पर नजर रखते रहे हैं, लेकिन वहां से गुजरने वाली महिलाओं की व्यवहारिक दिक्कतों के कारण तलाशी नहीं ली जाती, जिसका फायदा अवांछित गतिविधियों में लिप्त लोग उठा रहे हैं। इन्हीं दिक्कतों को देखते हुए एसएसबी ने महिला बटालियन तैयार की है। जिसे खटीमा से लगी सत्रह किलोमीटर लंबी सीमा पर स्थित अलग-अलग चेक पोस्टों पर नियुक्त किया जाएगा। एसएसबी की महिला यूनिट की जवानों ने बुधवार को लालकोठी चेक पोस्ट पर आमद दर्ज कराई। विभागीय सूत्रों ने बताया कि यूनिट में दो दर्जन से अधिक महिला जवान हैं। भविष्य में इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है।

No comments:

Post a Comment