Thursday, November 12, 2009

-भाई की शादी में 'खली' होंगे बाराती

छोटे भाई के विवाह समारोह में शिरकत करेंगे 'खली' पैतृक गांव हिमाचल प्रदेश के धिरायना से आज चंदौल गांव को प्रस्थान करेगी बारात गांव में 'दलबू उर्फ खली' के स्वागत को लेकर तैयारियां जोरों पर बारात में 'सिरमौरी नाटी' पर झाूमते नजर आंएगे खली त्यूणी (देहरादून) रेसलिंग (डब्ल्यूडब्ल्यूई) की दुनिया में भारत का नाम रोशन करने वाले दलीप सिंह राणा उर्फ 'दलबू' गुरुवार को छोटे भाई की शादी में बाराती होंगे। विवाह समारोह में शिरकत करने पैतृक गांव हिमाचल प्रदेश के धिरायना पहुंच रहे 'द ग्रेट खली' की एक झालक पाने को लोगों में खासा उत्साह है। गांव में खली के स्वागत को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। सात समुंदर पार वल्र्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट की दुनिया में अपनी ताकत से अंडरटेकर व बतिस्टा जैसे बलशालियों को धूल चटा चुके दलीप सिंह राणा उर्फ खली छोटे भाई भगत राणा की शादी में बाराती होंगे। गुरुवार को खली के पैतृक गांव हिमाचल प्रदेश के धिरायना से सुबह करीब ग्यारह बजे भगत राणा की बारात जिला सिरमौर की तहसील राजगढ़ के चंदौल गांव प्रस्थान करेगी। धिरायना गांव की उत्तराखंड के देहरादून जिले की तहसील त्यूणी से दूरी करीब 70 किमी है। लोक कलाकार बारात में 'ऊंडौं शाकिरो माटा खली गीतों दा गांणा' सिरमौरी नाटी पर खली को नचाने की तैयारी में हैं। विवाह समारोह की तैयारियों से ज्यादा लोगों में खली को देखने की उत्सुकता है। मां टंडी देवी बेटे दलबू उर्फ द ग्रेट खली के घर आने का समाचार पाकर उत्साहित हैं। गांव में विवाह समारोह से ज्यादा खली के स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक, चंदौल गांव बारात पहुंचने से पूर्व खली का हरिपुरधार, नोराधार, चाडऩा व राजगढ़ आदि स्थानों पर जोरदार स्वागत किया जाएगा। खली के भाई भगत राणा का जालंधर में जिम है। खली को बाराती के रूप में देखने को लेकर चंदौल गांव के लोग भी खासा उत्साहित हैं। न्यूयार्क में आशियाना बना चुके खली रक्षाबंधन के दौरान गृह प्रवेश पर मां टंडी देवी व पिता ज्वाला राम को साथ लेकर न्यूयार्क गए थे। वाया पांवटा होते हुए तहसील शिलाई से 21 किमी दूर स्थित पैतृक गांव धिरायना में देर रात तक खली के पहुंचने की सूचना है। नातेदार, रिश्तेदार, दोस्त व ग्रामीण खली की एक झालक पाने को बेताब हैं।

No comments:

Post a Comment