Friday, November 20, 2009

नंदा के बर्फीले मायके में हवा में नाचे विदेशी

नंदा का रहस्यमय बर्फीला मायका और उसमें हवा में झूलते हुए शानदार नृत्य। जी हां, जमा देने वाली हिमालयी ठंड के बीच प्रोजेक्ट बैंडालूप के दीवाने कलाकारों के ये नृत्य आपको दांतों तले अंगुलियां दबाने को मजबूर कर देते हैं। प्रोजेक्ट बैंडालूप खड़ी चट्टानों में रस्सियों के सहारे नृत्य करने वाले कलाकारों की जानी-मानी कंपनी है। वह दुनिया भर में ऊंचे चट्टानी क्षेत्रों में रस्सियों के जरिए अपने साहसपूर्ण और आकर्षक नृत्यों के लिए मशहूर है। वुडस्टॉक स्कूल में पढ़ीं बैंडालूप गु्रप की आर्टिस्टिक डायरेक्टर एमेलिया रुडोल्फ की देखरेख में पिछले हफ्ते बैंडालूप के कलाकार मसूरी के वुड स्टॉक स्कूल में नए जिम के उद्घाटन के लिए आए थे। वहां अपनी अनूठी नृत्य कला के प्रदर्शन के बाद वे नंदादेवी क्षेत्र की एक हफ्ते की यात्रा पर गए। वहां के ग्रामीणों की एडवेंचर ट्रैवल कंपनी माउंटेन शेफर्ड के श्रीगणेश बेस कैंप, नंदादेवी की विशाल शिलाओं और मनोरम हिमालयी दृश्यों के बीच उन्होंने दुरुह खड़ी चट्टानों में अपने अद्भुत नृत्यों को फिल्माया भी है। फिल्म निर्माता लोगन शीडर ने 16 एमएम के कैमरे से जहां फिल्म बनाई,

No comments:

Post a Comment