Friday, November 20, 2009

-महाकुंभ: हादसे पर तुरंत मिलेगा इलाज

प्रवेश द्वार पर हादसों से निपटने के लिए मौजूद रहेगा सचल दल -श्रद्धालु की हालत ज्यादा खराब होने पर पैरामेडिकल स्टाफ ले जाएगा अस्पताल -चार आउट पोस्ट बैरियरों पर मेला स्वास्थ्य विभाग रहेगा मुस्तैद हरिद्वार: महाकुंभ के दौरान सड़क हादसों से निपटने के लिए मेला स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस ली है। तीर्थनगरी में प्रवेश करने वाले श्रद्धालुओं के साथ दुर्घटना होने पर तत्काल इलाज मिल सकेगा। मेला स्वास्थ्य विभाग ने ऐसा इंतजाम किया है कि घटना के तुरंत बाद पीडि़त लोगों तक राहत पहुंच जाए। इसके लिए प्रत्येक प्रवेश द्वार पर सचल दल व पैरामेडिकल स्टाफ आपात सुविधा के साथ मुस्तैद रहेगा। हरिद्वार में जनवरी से महाकुंभ का आयोजन होने जा रहा है। कुंभ को लेकर सभी विभाग अपनी-अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। देश भर से करोड़ों श्रद्धालु महाकुंभ के लिए तीर्थनगरी पहुंचेंगे। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग की बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। ऐसे में हरिद्वार के सभी प्रवेश द्वारों पर ऐसी व्यवस्था की जा रही कि कोई हादसा या दुर्घटना होने की स्थिति में श्रद्धालुओं को तत्काल राहत प्रदान की जा सके। महाकुंभ के लिए स्वास्थ्य विभाग ने हरिद्वार में रुड़की से प्रवेश करने वालों के लिए रानीपुर झााल, नजीबाबाद मार्ग से आने वालों के लिए श्यामपुर कांगड़ी, देहरादून मार्ग से आने वालों के लिए नेपाली फार्म और पर्वतीय मार्ग मसलन श्रीनगर, पौड़ी आदि से प्रवेश करने वाले श्रद्धालुओं के लिए नटराज चौराहा ऋषिकेश में आउट पोस्ट बैरियर स्थापित किया है। मेला स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी आउट पोस्ट बैरियर पर एक-एक एम्बुलेंस मौजूद रहेगी। यहां पर प्रशिक्षित पैरामेडिकल स्टाफ भी मौजूद रहेगा जो आपात स्थिति में तुरंत श्रद्धालुओं को प्राथमिक उपचार के साथ राहत प्रदान करने की कोशिश करेगा। आउट पोस्ट बैरियर में किसी श्रद्धालु की स्थिति अधिक खराब होने पर उसे नजदीक के जिला, मेला अस्पताल तक यही टीम लेकर जाएगी। श्रद्धालु की स्थिति गंभीर होने पर चिकित्सा उपलब्ध कराने के बाद उसे हायर सेंटर को भी रेफर किया जा सकता है। मेलाधिकारी स्वास्थ्य डा. पी लाल ने बताया कि आउट पोस्ट बैरियर पर स्वास्थ्य विभाग हर पल चौकन्ना रहेगा। बैरियर पर मौजूद एम्बुलेंस को जरूरत की हर सुविधा से लैस किया जाएगा। अपने कार्य में दक्ष पैरामेडिकल स्टाफ को ही आउट पोस्ट बैरियर पर तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी हादसे में समय पर उचित प्राथमिक उपचार मिलने पर पीडि़त को राहत मिलती है और आगे के इलाज में सहूलियत हो जाती है।

No comments:

Post a Comment