Tuesday, 6 October 2009

-अब रात को भी उतर व उड़ सकेंगे हवाई जहाज

जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर भवन का उद्घाटन डोईवाला, प्रमुख सचिव नागरिक उड्डयन पीसी शर्मा ने सोमवार को जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर सात करोड़ की लागत से तैयार एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर भवन का उद्घाटन किया। अब शीघ्र ही इस हवाई अड्डे पर रात में भी जहाज उतर व उड़ सकेंगे। टावर भवन का उद्घाटन करते हुए श्री शर्मा ने कहा कि यहां जर्मनी से मंगाए गए इंस्ट्रूमेंटल लैंडिंग सिस्टम लगाए गए हैं। इस सिस्टम के चालू होने से विमान किसी भी समय बिना किसी बाधा के आ व जा सकेंगे। एयर अथॉरिटी ऑफ इंडिया उत्तरी क्षेत्र नई दिल्ली के कार्यालय निदेशक यूएन सिंह ने कहा कि एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर के निर्माण में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल हुआ है। यह पूर्ण रूप से वृत्ताकार है। इसकी ऊंचाई 21 मीटर है। नए एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर से वायु यातायात का नियंत्रण चारों दिशाओं में बिना किसी अवरोध के हो सकेगा। इस टावर भवन में संचार के नए उपकरण, मौसम विभाग की आधुनिक सुविधाएं, नए अग्निशमन संयंत्र एवं आपातकालीन स्वास्थ्य केंद्र की सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। कार्मिक वरिष्ठ प्रबंधक बी. सिंह और प्रबंधक एटीसी सुरेंद्र कुमार कैंतुरा ने बताया कि जौलीग्रांट में लगी यह तकनीक दिल्ली से उड़ान भरते ही पायलट को दिशा-निर्देश देना शुरू कर देगी, जिससे खराब मौसम और रात में भी विमान हवाई अड्डे पर उतर सकेंगे।

No comments:

Post a comment