Monday, 27 April 2009

कैलास-मानसरोवर: चुड़कानी व बड़े का रहेगा बोलबाला

-कुमाऊंनी भोजन व नाश्ते का लुत्फ उठायेंगे श्रद्धालु -यात्रा की तैयारियां अंतिम चरण में, दिल्ली में बैठक जल्द -आयुर्वेदिक तेल की मसाज मिटायेगी थकान हल्द्वानी/नैनीताल प्रसिद्ध कैलास-मानसरोवर यात्रा की तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच चुकी हैैं। विभिन्न विभागों की संयुक्त बैठक जल्द ही दिल्ली में होने वाली है। इस बार श्रद्धालु पूरी तरह कुमाऊंनी संस्कृति में सराबोर रहेंगे। श्रद्धालुओं के लिए भोजन में चुड़कानी व बड़ा मिलेगा। साथ ही आयुर्वेदिक तेल की मसाज उनकी थकान मिटायेगी। कुमाऊं मंडल विकास निगम के तत्वावधान में होने वाली चीन व भारत के आपसी समन्वय का प्रतीक धार्मिक कैलास मानसरोवर यात्रा की तैयारियां भी अंतिम चरण में पहुंच चुकी हैैं। इस बार यात्रा एक जून से ही शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इसमें श्रद्धालुओं के 16 दल शामिल होंगे। प्रत्येक दल में 60-60 श्रद्धालु रखने की योजना बनायी जा रही है। हालांकि चेतलकोट में भूस्खलन होने से यात्रा पर सवालिया निशान लग गया था। लेकिन अधिकारियों को यात्रा शुरू होने तक मार्ग पर यातायात सुचारु होने की उम्मीद है। विपरीत परिस्थितियों में वैकल्पिक मार्गों के प्रस्ताव भी तैयार किये गये हैैं। सूत्रों के मुताबिक यात्रा शुरू होने से पहले सीमांत जिले पिथौरागढ़ के प्रशासन, कुमाऊं मंडल विकास निगम, आईटीबीपी, हार्ट लंग केयर सेंटर दिल्ली व बीएसएनएल सहित विभिन्न विभागों व संस्थाओं की दिल्ली में बैठक होती है। इसमें यात्रा की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाता है। यह बैठक भी जल्द होने वाली है। इधर, कुमाऊं मंडल विकास निगम ने यात्रा को इस बार अधिक आकर्षक बनाने के इंतजाम भी किये हैैं। योजना है कि श्रद्धालु कुमाऊं में आकर पूरी तरह यहीं के रंग में सराबोर रहें। इस बारे में निगम के महाप्रबंधक अशोक जोशी ने बताया कि श्रद्धालुओं को काला सोयाबीन, चुड़कानी, मड़ुवा व बड़े आदि कुमाऊंनी डिश भोजन व नाश्ते में परोसी जायेंगी। इसके अलावा रास्ते में श्रद्धालुओं के मसाज की भी व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए आयुर्वेदिक तेल बनाने वाली केरल की एक कंपनी से बात चल रही है। श्रद्धालुओं का स्वागत बुरांश के जूस से किया जायेगा और उन्हें रास्ते में मट्ठा भी पीने को मिलेगा। उन्होंने बताया कि इस बार श्रद्धालुओं को बसों के स्थान पर इनोवा से लाने व ले जाने का निर्णय पहले ही लिया जा चुका है। :::1350 श्रद्धालुओं ने किया आवेदन::: नैनीताल: पवित्र कैलास मानसरोवर यात्रा के लिए इस बार 1350 श्रद्धालुओं ने आवेदन किया है। कुमाऊं मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक सचिन कुर्वेे ने बताया कि 1350 श्रद्धालुओं ने यात्रा के लिए आवेदन किया है। पहले तीन बैचों में शामिल यात्रियों का पहला स्वास्थ्य परीक्षण दिल्ली में 15 मई को होगा। दूसरा स्वास्थ्य परीक्षण भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के कैंप नाभीढांग में होगा। यात्रियों को विदेश मंत्रालय द्वारा टेलीग्राम भेज दिए गए हैं। सभी आवेदकों को पांच हजार रुपए की धनराशि जमा करनी होगी, पहले स्वास्थ्य परीक्षण में सफल होने के बाद दूसरे खर्च देय होंगे। उन्होंने बताया कि पहले मेडिकल परीक्षण के बाद ही यात्रा में जाने वालों की सूची फाइनल होगी। श्री कुर्वे ने बताया कि निगम की ओर यात्रा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। बहरहाल विदेश मंत्रालय की सक्रियता के बाद यात्रा की तैयारियों को लेकर निगम प्र्रबंधन की निगाहें यात्रा मार्ग की व्यवस्थाओं पर टिकी हैं।

No comments:

Post a comment