Monday, 23 March 2009

नैनो: ऊधम सिंह नगर भी गौरवान्वित

रुद्रपुर: सपनों की कार नैनो की लांचिंग को लेकर जहां देशवासी रोमांचित हैं वहीं ऊधमसिंह नगर के लोग गौरवान्वित भी है। इसकी वजह साफ है कि दुनिया की सबसे सस्ती कार निर्माण का सौभाग्य इस जिले को प्राप्त हो रहा है। टाटा के पंतनगर प्लांट में तो हर एक अधिकारी तथा श्रमिक प्रफुल्लित है। टाटा मोटर्स लिमिटेड के अध्यक्ष रतन टाटा ने लखटकिया कार नैनो को बीते वर्ष नवरात्र में लांच करने की योजना बनायी थी, लेकिन सिंगुर विवाद से इसमें व्यवधान आ गया। टाटा ने इसके निर्माण के लिए गुजरात में साणंद जगह तो चुनी, किंतु लांचिंग के लिए हाल फिलहाल नैनो उत्पादन की जिम्मेदारी पंतनगर के प्लांट को सौंप दी। हालांकि यहां कंपनी का व्यावसायिक वाहनों के निर्माण का प्लांट स्थापित है जबकि नैनो पैसेंजर यूनिट से संबंधित है। इसके बावजूद इसका निर्माण यहां प्रारंभ हुआ और पूरे देश के नागरिकों खासकर मीडिया की निगाह पंतनगर पर केंद्रित हो गयी। पंतनगर प्लांट में मूलत: टाटा ऐस व मैजिक जैसे व्यावसायिक वाहनों का उत्पादन होता है। इस वर्ष डेढ़ लाख ऐस व मैजिक निर्माण का लक्ष्य है। इन दोनों के उत्पादन के मध्य नैनो का भी निर्माण चल रहा है। वर्तमान में रोजाना 15-20 नैनो कारों का निर्माण हो रहा है। नैनो की लांचिंग 23 मार्च को मुंबई में होनी है। लांचिंग के लिए यहां बनी नैनो कारें कंटेनरों के जरिए मुंबई पहुंच गयी हैं। इसके अलावा दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता जैसे मेट्रो शहरों में पहुंचाई जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक विभिन्न रंगों में ये कारें तीन वर्जनों सामान्य, सेमी डीलक्स तथा डीलक्स में है। सामान्य की फिलहाल लागत 1.3 लाख बताई गयी है। सेमी डीलक्स में एसी लगा है जबकि डीलक्स में एसी, हीटर के साथ ही पॉवर विंडों की सुविधा भी है। इनकी लागत पौने दो लाख के करीब बताई जा रही है। सूत्रों के अनुसार नैनो से राज्य सरकार को एक्साइज डयूटी आदि से भी अच्छी आय अर्जित होगी। यदि कार निर्माण का कारखाना यहां लगता तो उत्तराखंड को 350 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष की आय होती। कंपनी देहरादून तथा हरिद्वार में भी अपना शोरूम स्थापित करने की तैयारी में है। नैनो की लांचिंग के मद्देनजर स्थानीय प्लांट में खुशी का माहौल है।

No comments:

Post a comment