Monday, 16 February 2009

एचएमटी कारखाने की बदहाली को प्रबंधन दोषी

,हल्द्वानी: श्रमिक संघ के वार्षिक अधिवेशन में शनिवार को एचएमटी घड़ी कारखाने की बदहाली के लिए प्रबंधन को दोषी ठहराया गया और इसे बचाने का संकल्प लिया गया। इस दौरान हुए वार्षिक चुनाव में केएन सांगुड़ी को अध्यक्ष चुना गया। सेंट जीसस पब्लिक स्कूल रानीबाग के मैदान में हुए अधिवेशन को संबोधित करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष केवलानंद सांगुड़ी ने कहा कि एचएमटी को किसी भी कीमत पर बंद नहीं होने दिया जायेगा। कर्मचारी नेता केएन सांगुड़ी ने एचएमटी कारखाने की दयनीय हालत के लिए उच्च प्रबंधन एवं तथाकथित कुछ संगठनों को दोषी ठहराया। सांगुड़ी ने प्रबंधन को धृतराष्ट्र तक की संज्ञा दे डाली। प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हरीश चंद्र पांडे ने भी संबोधित किया। कोषाध्यक्ष नरेंद्र सिंह कड़ाकोटी ने वर्षभर का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया। सभी सदस्यों ने इसे ध्वनिमत से पारित कर दिया। अधिवेशन में वर्ष 2009-10 के लिए वार्षिक चुनाव हुआ। इसमें केएन सांगुड़ी अध्यक्ष, नारायण राम आर्य व संजीव शुक्ला उपाध्यक्ष, नरेंद्र सिंह कड़ाकोटी मंत्री, शंकर दत्त तिवाड़ी व केआर गयाल संयुक्त मंत्री, हरगोविंद कुठलाकोटी कोषाध्यक्ष व केएस रावत संगठन मंत्री चुने गए। अधिवेशन में हरीश चंद्र, भगवत कोटलिया, देवेंद्र सिंह नेगी, राजेंद्र सिंह बिष्ट, नंदाबल्लभ डंगवाल, लक्ष्मण सिंह, महिपाल सिंह, राम सिंह, मदन सिंह, उमेश चंद्र, मोहन सिंह नेगी आदि मौजूद थे।

No comments:

Post a comment